शनिवार, 3 जनवरी 2009

कैसे किया हमने MA Economics

लोग हमसे पूछते हैं
सन २००८ में
क्या क्या सीखा
हम सोच में पड़ जाते हैं
थोड़ा बहुत MS Excel सीखा था
एक दो ट्रेनिंग में गए थे
रोटियाँ गोल बनने लगी हैं
चार पहिया चला लेते हैं (Ist gear में )
और तो कुछ ख़ास नही सीखा
periodic function की तरह
वापस शून्य में आ गए हें
पर फिर ध्यान आता है
की अनजाने में ही
२००८ कितना कुछ सिखा गया है
पहले कहाँ पता था
Repo Rate, CRR, WPI
अब सब समझने लगे हें
पहले दूसरों से पूछकर
पैसा निवेश करते थे
अब ख़ुद गुना भाग करते हें
पहले कहाँ पता था
Subprime lending क्या है
housing bubble कैसे फूटता है
अमरीका की कृपा से
शब्दकोष कितना बढ़ गया है !!
expansion से लेके recession
inflation से लेके deflation
सब एक साल में दिख गया है
दोस्तों, सच तो ये है
की बिना किताब पढ़े हमने
MA Economics में मास्टर्स कर लिया है
(बस certificate बाकी है , लालूजी को बोल दिया है )

7 टिप्‍पणियां:

makrand ने कहा…

bahut khub

Shashwat Shekhar ने कहा…

बहुत बढ़िया.....मुंबई एपिसोड भी जोड़ते तो और अच्छा होता

राज भाटिय़ा ने कहा…

क्या बात है, बहुत खुब.
धन्यवाद

Ratan singh shekhawat ने कहा…

भाई बहुत कुछ सीख गए जो कुछ बच गया है वह भी शायद सरकार की मेहरबानी से इस साल सिखने को मिल जाए |

Dr. Vijay Tiwari "Kislay" ने कहा…

वर्षा जी
संकेतों में ही सही आपने उद्देश्य पूर्ण कर दिया लेखन का
- विजय

विक्रांत बेशर्मा ने कहा…

बहुत अच्छे वर्षा जी !!!!!!!!!

अनिल कान्त : ने कहा…

उत्तम वर्षा जी